अच्छी आदतों से ग्रहों को कैसे करें शांत, जानिए काम की बातें

अच्छी आदतों से ग्रहों को कैसे करें शांत, जानिए काम की बातें जो जीवन को बनती है शानदार, जानिए अपने आपको अच्छी आदत में कैसे बदलें।



मनुष्य को अपने जीवन में अच्छी आदतें अवश्य डालनी चाहिए ,इससे आपकी जीवन में ही सुधार नहीं बल्कि आपके घर परिवार के लोगो मे भी अच्छी बदलाव देखने को मिलता है। आपसे मिलते जुलते रहने वाले लोग भी काफी प्रभावित होते हैं।

अच्छी आदत ही इंसान को महान बनती है, आदत एक प्राकृतिक गुण है जो ना ही आसानी से आता है और ना ही आसानी से जाता है इसके लिए धीरे धीरे प्रयास करना चाहिए ताकि एक एक दिन पूर्ण बदलाव देखने को मिले,आदत अच्छी हो या बुरी एक बार में नहीं आती ये धीरे धीरे ही बदलाव होता है । लोग कहते हैं कि मुझे शराब कि लत लग गई या पढ़ाई करने कि आदत पड़ गई है तो ये दोनों आदत एक दूसरे के विरुद्ध है  क्यों कि एक अच्छाई है तो दूसरा बुराई है और दोनों हुआ कैसे तो दोनों का कारण एक ही है धीरे धीरे ही हुआ। एक बार में कुछ भी नहीं बदला होगा । दोनों पहले वैसे दोस्तो के साथ मिले होंगे फिर देखे होंगे वो क्या कर रहा है कैसे कर रहे हैं ये सब करने के बाद इसका फल का स्वाद चखे होंगे, हा अच्छा है वाह तो बढ़िया है। इसी तरह अपने अपने रास्ते पर आगे बढ चलते हैं।

अपने आप को कैसे बदलें अच्छी आदतों में।

ऊपर में मैंने लिखा है की आदत एक ऐसी प्राकृतिक गुण है जो धीरे धीरे ही बदलाव होगा। इसके लिए सबसे पहले आपको संगत बदलनी होगी, आपको ऐसे लोगो के साथ रहना या जुड़ना होगा जो अच्छे आदतों में पहले से रह रहे हैं। अच्छी आदत डालने से अनेक फायदे है ना ही धार्मिकता के अनुसार बल्कि वैज्ञानिक के विचार से भी अनेक फायदे हैं।

अच्छी आदत कैसे लगाए। आइए जानते हैं प्वाइंट बाई प्वाइंट 

बुरे दोस्तों से दूर रहें

जैसी संगत वैसी रंगत , ये कहावत आप जानते होंगे तो ये झूठा नहीं है सच है। आज ही ऐसे लोगो के साथ रहना छोड़ दें क्योंकि ये कभी आपके सही काम के नहीं होते।ऐसे में आपको भी समझना होगा कि सही क्या है मेरे दोस्त में और गलत क्या है?

         उसमें अगर आपको इस बात कि थोड़ी सी भी समझ होगी तो जरूर आपको सतर्क होना चाहिए और धीरे धीरे वैसे लोग से दूर हो जाए। अच्छे दोस्तो का साथ पकड़े अगर आपको अच्छे और बुरे लोगों कि पहचान नहीं है तो अपने माता पिता या गुरु जन से पूछिए। अच्छे दोस्त हमेशा सोने कि अंडे के जैसे होते हैं हमेशा एकदुसरे दोस्त का भला होते ही रहता है हर प्रकार से फायदा होता है ।

खुद से बड़े लोगों के साथ समय व्यतीत करें।

ये बहुत अच्छी बात है कि बड़ों के साथ रहिए। पर यहां भी सही लोग का चयन करना जरूरी है, ऐसा इंसान होना चाहिए जो छोटे को रेस्पेक्ट करे ,साथ ही उनकी बोल चाल देखे फिर देखिए आपका जीवन कितना सुन्दर बन जाता है । बड़े लोगो के साथ बहुत कुछ सीखने को मिलता है साथ ही आपकी भी इजत बढ जायेगी।

सोशल मीडिया से दूरी पर रहें।

आज के दौर में कौन ऐसा व्यक्ति होगा जो सोशल मीडिया से दूर होगा, पता करने पर कुछ गिने चुने लोग ही होंगे जो Facebook , twitter या व्हाट्सएप का उपयोग नहीं करते होंगे। तो इससे दूरी पर रहना आज के समय में इंपॉसिबल सा होगया है। काम भी तो कई हो जाते हैं वो भी जरूरी है तो कहने का मतलब है की कम यूज करें रात दिन उसी में ना लगे रहें।जरूरत के अनुसार काम में लाए।

छोटी-छोटी आदतों से कैसे सुधारें अपने ग्रहों की दशा और अपने जीवन को।

आइए जानते है कि अच्छे आदतों से आपके धर्म का पालन कैसे होता है और आपका जीवन कैसे ठीक होता है। मनुष्य अपने जीवन में जाने-अनजाने में शुभ-अशुभ दोनों ही कर्म करता है। सात्विक व तामसी प्रवृत्ति प्रत्येक व्यक्ति के अंदर होती है, हम छोटी-छोटी-सी आदतों से भी अपने जीवन में ग्रहों को ठीक व अपने अनुकूल कर सकते हैं।

मंदिर को साफ करते हैं तो देव गुरु बृहस्पति बहुत अच्छे फल देते है।

अपनी जूठी थाली या बर्तन उसी जगह पर छोड़ना, सफलता में कमी करता है।

जूठे बर्तन को उठाकर सही जगह पर रखते हैं या साफ कर लेते हैं तो चंद्रमा व शनि ग्रह ठीक होते हैं और शुभ फल देते हैं।

देर रात जागने से चंद्रमा अच्छे फल नहीं देता है इसलिए समय से सो जाएं और सुबह जल्दी जागे। जल्दी जागने वाला ही राजा बनता है।

कोई भी बाहर से आए, उसे स्वच्छ पानी जरूर पिलाएं, ये तो मानवता का कर्तव्य है। इससे राहु ग्रह ठीक होता है। राहु का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता।

 रसोई को गंदा रखते हैं तो आपको मंगल ग्रह से दिक्कत आएंगी। रसोई घर को साफ नहीं करना मतलब कई तरह के बीमारियों को बुलाना जैसा है इसलिए रसोई हमेशा साफ-सुथरी रखें इससे मंगल ग्रह ठीक होता है।

घर में सुबह उठकर पौधों को पानी दिया जाता है तो हम बुध, सूर्य, शुक्र और चंद्रमा को मजबूत करते हैं।

जो लोग पैर घसीटकर चलते हैं, उनका राहु खराब होता है।

बाथरूम में कपड़े इधर उधर फेंकते हैं, बाथरूम में पानी बिखराकर आ जाते हैं तो चंद्रमा अच्छे फल नहीं देता है।बा

बाहरे आकर अपने चप्पल, जूते व मोजे इधर-उधर फेंक देते हैं, तो उन्हें शत्रु परेशान करते हैं।

राहु और शनि ठीक फल नहीं देते हैं अगर बिस्तर हमेशा फैला हुआ हो, सलवटें हों। चादर कहीं, तकिया कहीं है।

चीखकर बोलने से शनि खराब होता है। 

बुजुर्गों के आशीर्वाद से घर में सुख-समृद्धि बढ़ती है तथा गुरु ग्रह अच्छा होता है।

अपशब्द बोलने व गालियां देने से गुरु और बुध खराब होते हैं। यदि आप भी गालियां देने के शौकीन हैं तो बुढ़ापे में बिस्तर पकड़ने के लिए तैयार रहें।

रिजल्ट में इसका यही आया की आप जितना अच्छा करेंगे इस प्रकृति में रहकर ये घुमा फिरा कर वैसा ही रिजल्ट आपको प्रोवाइड कराएगा।अच्छा करो तो उसका रिजल्ट आज ना कल अच्छा ही आयेगा।

 मैं आशा करता हूं कि आपको ये आर्टिकल अच्छी लगी होगी तो इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर अवश्य करें और अपना विचार जरूर दें। Gindiahindi.com पर आते जाते रहें।

धन्यवाद

SHARE

Gautam kr. Suraj

Hi. I’m CEO/Founder of G India Hindi blog. I like to write bloging,i am Web Developer, Business Enthusiast, Speaker, Writer. Inspired to make things looks better, and i like to provide you knowledge.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment

If you have any doubts. Let me know.